Order above 200 for Free Delivery  | Get 10% Extra Discount every Prepaid order above 500 Use Code +10% extra discount

Cash on Delivery Available (Charges Applicable)   | For any help please contact us +91 8949270689.

  • image1

PRABHAT REET LEVEL 1 & 2 BAL VIKAS SHIKSHA SHASTRA 3rd grade SHIKSHA MANOVIGYAN WRITTEN BY VANDANA JADON

SKU: vandana jadon reet manovigyan shiksha shastra
Rating4/5 based on
प्रभात REET (Level-I&II) II ग्रेड शिक्षक भर्ती परीक्षा हेतु बाल- विकास एवं शिक्षा शास्त्र (Child Development & Pedagogy) लेखिका डॉ. वन्दना जादौन (Educational Psychologist)
More Description
320
200
38% Off
- +
Availability:

Description


प्रभात REET (Level-I&II) II ग्रेड शिक्षक भर्ती परीक्षा हेतु बाल- विकास एवं शिक्षा शास्त्र (Child Development & Pedagogy) लेखिका डॉ.वन्दना जादौन (Educational Psychologist)


Author Voice

Dr. VANDANA JADON M.A.(Psy.& Eng), M.Ed., Ph.D in Edu. Educational Psychologist Principal of S.M.T.T. College in S.W.M


जीवन संघर्ष : एक ऐसा शब्द जिससे मैं होश संभालते ही परिचित हो गई। लेकिन मैंने हार नहीं मानी क्योंकि मैं कुछ अलग करना चाहती थी।अपनी धुन और अपने स्वयं के सिद्धान्तों पर चलकर अपनी जिन्दगी जीना चाहती थी।हजारों लोग पैदा होकर चले जाते हैं, मैं कुछऐसा करना चाहती थी कि लोग याद करें। बस यही जिद और यही होसला मुझे यहाँ तक ले आया और आजखुश भी हूँकि मैने लड़कर जीत हासिल की है।वो सफलता ही कीजो बिना संघर्ष के मिल जाये। मैंने अपना अनुभव इसलिए व्यक्त किया है क्योंकि इतने विद्यार्थियों को पढ़ाते वक्त मन में हमेशा एक ही बात रहती है कि इनमें से अनेक अपने सामाजिक,


पारिवारिक और खास कर आर्थिक हालत से जूझ रहे होंगे, फिर भी ये अपने सुनहरे भविष्य के सपने संजोये, मेहनत कर रहे हैं। बस यही जज्बा टूटना नहीं चाहिए । तो, हिम्मत का, हौसला रखों और संघर्ष की ठान लो, क्योंकि सफलता की अलमारी प्रभात तुम्हारा इंतजार कर रही है।



USEFUL FOR REET EXAM LEVEL FIRST AND SECOND CHILD DEVELOPMENT & EDUCATION PSYCHOLOGY WRITTEN BY Dr. VANDANA JADON

REET III GRADE CHILD EDUCATION & EDUCATIONAL PSYCHOLOGY WRITTEN BY DR. VANDANA JADON 

PUBLICATIONJADON PRABHAT PUBLICATION
AUTHOR Dr. VANDANA JADON
LANGUAGE HINDI
EDITION 2020 edition

 

Customer Reviews

4 out of 5 stars based on 1 reviews

Login

Don't have an account?
Sign Up

"Best book which i have read"

by YOGESH on 27-Oct-2020
Can't tell right now
×

Cart


Your shopping cart is empty.
Checkout

Go to cart page