Order above 200 for Free Delivery  | Get 10% Extra Discount every Prepaid order above 500 Use Code 10% extra discount

Cash on Delivery now Available charges applicable.  For any help please Click here



  • VIVEK SHANKAR BHARTIYA AVM PASHATYA KAVYASHASTRA 7th Edition 2021

VIVEK SHANKAR BHARTIYA AVM PASHATYA KAVYASHASTRA 7th Edition 2021

SKU: HINDI GRANTH BHARTIYA PASHYATAYA KAVYASHASTRA
Rating5/5 based on 1 reviews
285
250
12% Off
(Exclusive of all taxes)
- +
Availability:

Description

BHARTIYA AVM PASHCHATYA KAVYASHASTRA WRITTEN BY Dr. VIVEK SHANKAR FOR IAS/PCS & STATE PCS EXAM 

PUBLICATION RAJASTHAN HINDI GRANTH ACADAMY 
AUTHOR Dr. Vivek Shankar 
Pages428

EDITION 

ISBN

7th edition 2021  

9789390571291


यह पुस्तक एन.टी.ए./यू.जी.सी. द्वारा आयोजित जे.आर.एफ/नेट/ और आरपीएससी तथा विभिन्न राज्यों की राज्यस्तर पर आयोजित होने वाली सेट/स्लेट/बेट इत्यादि परीक्षाओं के लिए 'हिंदी-साहित्य द्वितीय पत्र के अन्तर्गत भारतीय एवं पाश्चात्य काव्यशास्त्र के पाठ्यक्रम (इकाई) के अनुसार लिखित है। हिंदी-साहित्य को 4 खंडों में प्रस्तुत किया जा रहा है। यह पुस्तक चतुर्थ खंड है। इसके तीन खंड क्रमशः हिंदी-साहित्य (प्रथम खंड), हिंदी-काव्य (द्वितीय खंड) और गद्य-साहित्य (तृतीय खंड) शीर्षक से प्रकाशित है। यह पुस्तक कॉलेज प्राध्यापक स्क्रीनिंग एवं साक्षात्कार के लिए भी महत्त्वपूर्ण है। साथ-ही-साथ, आरपीएससी स्कूल व्याख्याता, नवोदय विद्यालय, सेंट्रल स्कूल के टी.जी.टी. पी.जी.टी. एवं आरपीएससी सेकंड ग्रेड अध्यापक भर्ती परीक्षा एवं हिंदी की अन्य समस्त प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए उपयोगी है। काव्यशास्त्र से संबंधित प्रायः समस्त पक्षों को इसमें प्रस्तुत किया गया है। बी.ए और एम.ए. के विद्यार्थियों के लिए भी यह पुस्तक आवश्यक, उपयोगी एवं महत्त्वपूर्ण है। इस पुस्तक में संक्षेप में विवरणात्मक पक्षों को तथा तथ्यात्मक पक्षों को वस्तुनिष्ठ रूप में प्रस्तुत किया गया है। पुस्तक के अंत में अभ्यास-प्रश्नों से छात्र एवं परीक्षार्थी अवश्य लाभान्वित होंगे।

Reviews

Rating 5/5 based on 1 reviews

Login
Don't have an account?
Sign Up

Hemant Sharma
Hemant Sharma
02-Jul-2019

Service bahut shandar hai

Whatsapp se contact karna bahut hi accha laga . Service quality ok hai. Books are same as mention in order.

×

Your Shopping Bag


Your shopping cart is empty.